Constipation : कैसे करे अपने आप को कब्ज से दूर

Constipation- यहां ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में बताया गया है, जो पेट की सफाई करने में आपकी मदद कर सकते हैं।
हालांकि मल निष्कासन के मामले में हर व्यक्ति का अपना अलग अनुभव होता है (उदाहरण के लिए, कुछ लोग दिन में 3 बार अपने पेट को साफ करते हैं, और अन्य कुछ लोग, हो सकता है कि 2 दिनों में केवल एक बार करते हों), यदि आपको निम्नलिखित में से कोई भी अनुभव हो तो उस दशा को कब्ज (Constipation)कहा जा सकता है: कई दिनों से मल निष्कासन न होने के साथ गैस के कारण पेट का अत्यधिक फूलना, सूजन, भूख का न लगना, मुँहासे, सिरदर्द, पेट या पीठ के निचले हिस्से में दर्द।

जिस भी व्यक्ति को पहले कभी Constipation रहा हो, वह समझ जाएगा कि यह कितना दुखी कर देने वाला समय हो सकता है, लेकिन अच्छी खबर है (और हम हमेशा बुरे में अच्छा पा ही लेते हैं) कि सबसे पुरानी Constipation के मामले में भी आहार में छोटा-सा बदलाव लाकर राहत पायी जा सकती है। अब बात को बढ़ाये बिना, आइए, उन खाद्य पदार्थों को देखें जो आपके पेट को साफ कर सकते हैं और मल निष्कासन को संभव बना सकते हैं।

Constipation : कैसे करे अपने आप को कब्ज से दूर

1. हमेशा फल और सब्जियां खायें – फलों और सब्जियों में फाइबर अधिक होता है। जब मैं अधिक कह रही हूं तो मेरा मतलब बहुत अधिक से है। एक संतुलित आहार में लगभग 30 ग्राम फाइबर होना चाहिए, जिनमें से अधिकांश फाइबर फलों और सब्जियों की 2 सर्विंग से आसानी से मिल जायेगा। इसके अलावा, फलों और सब्जियों से मिलने वाले सभी विटामिन और खनिज को देखें तो कोई आश्चर्य नहीं कि फलों और सब्जियों में इनमें से अधिकांश विटामिन और खनिज मिल जाते हैं।

2. लाजवाब नींबू पानी – एक गिलास गर्म पानी में नींबू की कुछ बूंदें डाल कर पीना हल्के रेचक यानी लैक्जेटिव का काम करता है, और अगर सुबह-सुबह इसे सबसे पहले खाली पेट पिया जाये तो इससे मल निष्कासन को प्रोत्साहन मिलता है। यह शरीर से विषैले कचरे को निकालने मदद करता है, और माना जाता है कि यह वजन घटाने में भी सहायक है।

इसे आजमायें – लेमन जूस

3. कामयाब कैस्टर ऑयल – यह रेचकों में सबसे पुराना है और सदियों से लोकप्रिय रेचक माना जाता है। हालांकि लंबे समय तक इसका उपयोग नहीं करने की सलाह दी जाती है, क्योंकि यह शरीर के पोषक तत्वों को अवशोषित करने और अपशिष्ट पदार्थों के प्राकृतिक निष्कासन की क्षमता में हस्तक्षेप कर सकता है। कुछ लोग अगली सुबह शौच जाने से पहले अच्छी तरह से पेट साफ करने के लिए अपनी नाभि में गर्म कैस्टर ऑयल की कुछ बूंदों को लगाने का भी सुझाव देते हैं।

4. सेब और इसके साइडर सिरका – सेब की सॉस, सेब का रस, या एप्पल साइडर सिरका जैसे सेब और उसके उत्पाद आहार नली के लिए बहुत अच्छे होते हैं। इनमें पेक्टिन नाम का यौगिक भरपूर मिलता है। पेक्टिन प्राकृतिक रूप से मिलने वाला पॉलीसैक्राइड है, जो आंतों के छिले गये अस्तर को आराम देने के लिए फाइबर को चिकनी कोटिंग में बदलने में मदद करता है। फाइबर से भरपूर सेब आहार नली से मल को आसानी से निकलने में मदद करता है, और स्वस्थ मल निष्कासन में सहायक है।

5. एवोकाडो खायें – अगर आप अपने पेट की सफाई को लेकर फ्रेश बने रहना चाहते हैं तो अपने दैनिक आहार में एवोकाडो को शामिल करना अच्छा है। एवोकाडो में घुलनशील और अघुलनशील, दोनों तरह के फाइबर मिलते हैं: घुलनशील फाइबर पानी को अवशोषित करता है और आंत में पाचन से निकले कचरे को बांधता है, और अघुलनशील फाइबर आपकी आंतों की सफाई करने की क्षमता के लिए जाना जाता है।


6. प्रोबायोटिक योगर्ट – कभी-कभी आपके जीवन में कुछ कारणों से आपकी आंत में रहने वाले जीवाणु अव्यवस्थित हो जाते हैं, जिससे पाचन और मल निष्कासन प्रभावित होता है। प्रोबायोटिक योगर्ट में भरपूर जीवित बैक्टीरिया मिलते हैं, जो आपके आंत की व्यवस्था को संतुलित करके पाचन समस्याओं को कम करते हैं।

7. फ्लेक्स और चिया के बीज – फ्लेक्स और चिया के बीज अपनी संरचना में अद्वितीय हैं, लेकिन दोनों में ओमेगा-3 फैटी एसिड, और घुलनशील फाइबर होते हैं। हम जानते हैं कि घुलनशील फाइबर Constipation के लिए कितना सहायक है, लेकिन ओमेगा -3 फैटी एसिड भी कम महत्वपूर्ण नहीं हैं। वे सूजन एवं जलन रोधी होते हैं, और सूजन और जलन से ग्रस्त आंतों को आराम देने में मदद करते हैं। आंतों का सूजन और जलन से ग्रस्त होना पुरानी Constipation का सबसे आम कारण है।

Constipation : कैसे करे अपने आप को कब्ज से दूर

8. क्लोरोफिल का सेवन करें – पालक, हरी जैतून, शतावरी, लीक यानी हरा प्याज, मटर, गोभी, कोलार्ड ग्रीन्स, ब्रसेल्स स्प्राउट आदि क्लोरोफिल वाली सब्ज़ियां (इन्हें हरी सब्जियां भी कहा जाता है) स्वस्थ पाचन को बढ़ावा देती हैं, और आपके लीवर यानी यकृत को विषैले पदार्थों से मुक्त करती हैं। वसा में घुलनशील क्लोरोफिल रोगजनकों के विकास को रोकता है, और आंतों के अस्तर को निरोग बनाने में सहायक होता है।


Constipation – कुल मिलाकर, हम कह सकते हैं कि असुविधा में रहने और लंबे समय तक उचित मल निष्कासन की इच्छा पाले रखने की जगह स्वच्छ भोजन करना, मल निष्कासन की इच्छा होने पर मल निष्कासन करना, और भरपूर पानी पीना बेहतर है। अंतिम सलाह यह है कि रोज 30 मिनट व्यायाम करें – यह पाचन के मामले में चमत्कारी रूप से असर करता है।
Read Also : HSSC Group D Result: जानिए कब जारी होगा ग्रुप डी की परीक्षा का रिजल्ट?

Dinesh

Aaj Ki Taaza Khabar is the best way to read the daily news, and more about Techincal Khabar, gadgets, phones and much more.